Google meet के माध्यम से हुई भारतीय पत्रकार सुरक्षा संघ ट्रस्ट की बैठक

दिनाँक 6 मार्च को भारतीय पत्रकार सुरक्षा संघ ट्रस्ट की ऑनलाइन गूगल मीट के माध्यम से एक राष्ट्रीय, प्रदेश व जिला एवं समस्त पदाधिकारियों व सदस्यों की एक बैठक की गई जिसमें ट्रस्ट के उद्देश्य के विषय में सभी सदस्यों से चर्चा हुई। ट्रस्ट के उद्देश्यों पर चर्चा करते हुए ट्रस्ट के संस्थापक इंजी0 देवेश मिश्रा जी देश के उन प्रदेशों में एक-एक क्षेत्रीय कार्यालय खोलने की बात की जिन प्रदेशों में संस्था के प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किए जा चुके हैं जिसमें उत्तर प्रदेश के लखनऊ, मध्यप्रदेश, हरियाणा, पंजाब, गुजरात, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश, व बिहार, राजस्थान, में यह कार्यालय खोले जाएंगे। ट्रस्ट की अध्यक्षता कर रहे संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष राकेश कुमार विश्वकर्मा जी ने कहा कि ट्रस्ट से जुड़े हुए सभी सदस्यों को 5 से 10 वर्ष तक सक्रियता के साथ संस्था में कार्य करने पर प्रत्येक सदस्य को पेंशन दी जाएगी और उन सदस्यों को जो संस्था में अच्छा कार्य कर रहे हैं व जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं उनके दो बच्चों का कक्षा 12 (सरकारी स्कूल) तक का सम्पूर्ण शिक्षण शुल्क भारतीय पत्रकार सुरक्षा संघ ट्रस्ट द्वारा जमा किया जाएगा। बैठक में शामिल सभी सदस्यों ने अपनी अपनी बातों को रखा जिसमें उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष रवि कुमार जी ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि यदि किसी भी पत्रकार के विरुद्ध कोई मुकदमा दर्ज किया जाता है तो सबसे पहले उच्च स्तरीय अधिकारियों द्वारा उसकी जाँच होनी चाहिए और उस मामले को ट्रस्ट को अवश्य बताया जाना चाहिए उसके बाद अगर वह दोषी पाया जाता है तो उसके विरुद्ध कोई कानूनी कार्यवाही शुरू किया जाना चाहिए। इसके अलावा सभी पदाधिकारियों ने अपने अपने विचार एक दूसरे से साझा किये।

इस बैठक में डॉ0 विभुरंजन राष्ट्रीय सलाहकार, श्री जसबीर सिंह दुग्गल राष्ट्रीय प्रवक्ता, मुख्य सलाहकार अनूप त्रिपाठी, राष्ट्रीय सदस्य व पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गुजरात श्री भेवेश सोनी, उत्तर प्रदेश अध्यक्ष रवि कुमार, हिमाचल प्रदेश अध्यक्ष भेखा नन्द वर्धन जी, प्रदेश अध्यक्ष पंजाब श्री देवेन्द्र सिंह टाइगर , प्रदेश उपाध्यक्ष पंजाब श्री कर्णवीर सिंह, प्रदेश संगठन मंत्री उत्तर प्रदेश श्री जितेन्द्र प्रासाद यादव, उमेश पाठक, अभिजीत भट्ट कानपुर, जिला अध्यक्ष रतलाम मध्यप्रदेश तुषार विश्वकर्मा, आदि पत्रकार सदस्य शामिल हुए।

नियुक्ति पत्रों में त्रुटी के संदर्भ में

 भारतीय पत्रकार सुरक्षा संघ ट्रस्ट की ओर से जारी किये गए नियुक्ति पत्रों में टाइपिंग मिस्टेक के कारण  Appoiment latter को  Appointment Letter पढ़ा जाये| नियुक्ति पत्रों में हुई त्रुटी के लिए हमें खेद है|